0

मनरेगा योजना का विशेष निरीक्षण अभियान,
सीईओ बैरवा ने मनरेगा स्थल पर श्रमिकों के साथ किया श्रमदान
बारां

महात्मा गांधी नरेगा योजना के कार्यों की गुणवत्ता एवं अपेक्षित स्तर बनाए रखने के उद्देश्य से जिले में विशेष निरीक्षण अभियान के तहत अधिकारियों की टीम द्वारा विभिन्न स्थानों पर 722 प्रगतिरत कार्यों का निरीक्षण किया गया। इस दौरान सीईओ जिला परिषद बृजमोहन बैरवा ने मनरेगा कार्य स्थल पर फावड़ा चलाया व तगारी उठाकर टास्क के अनुसार श्रम करने एवं पूर्ण मनरेगा मजदूरी प्राप्त करने हेतु उपस्थित श्रमिकों को प्रेरित किया।
सीईओ जिला परिषद बैरवा ने ग्राम पंचायत बटावदा व सुंदलक में मनरेगा कार्यों के निरीक्षण के दौरान श्रमिकों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर श्रमदान किया साथ ही श्रमिकों को कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु दिन में चार बार हाथ धोने, मास्क अथवा गमछा लगाने एवं यथा संभव सामाजिक दूरी बनाए रखने हेतु जागरूक भी किया। श्री बैरवा ने बताया कि मनरेगा कार्यों के निरीक्षण के दौरान निर्देश दिए गए कि श्रमिक प्रातः 6 बजे उपस्थित हो एवं भीशण गर्मी को देखते हुए उन्हें यथासम्भव प्रातः 11 बजे तक कार्य पूर्ण करने का प्रयास करें तथा उन्हें निर्धारित टास्क अनुसार पूरी मजदूरी प्रदान की जाए जिससे गांवों का समुचित विकास हो सके। जिले में 106 अधिकारियों के दलों का गठन कर 722 कार्यों का निरीक्षण किया गया, जिसमें से 16 कार्यों को सन्तोशप्रद नहीं पाये जाने पर 14 मेटों के साथ-साथ ग्राम पंचायतों के 4 ग्राम विकास अधिकारियों, ग्राम रोजगार सहायक व कनिश्ठ सहायक व 3 कनिश्ठ अभियन्ता व कनिश्ठ तकनीकी सहायकों को चेतावनी नोटिस जारी किये गये। उक्त निरीक्षणों में समस्त पंचायत समितियों के विकास अधिकारियों के अलावा उपवन संरक्षक बारां, अधीक्षण अभियन्ता जल संसाधन, वरिश्ठ लेखाधिकारी जिला परिशद, अधिशाशी अभियन्ता महात्मा गांधी नरेगा जिला परिशद, अधिशाशी अभियन्ता सार्वजनिक निर्माण विभाग, अधिशाशी अभियन्ता जल संसाधन विभाग खण्ड बारां, अधिशाशी अभियन्ता सीएडी, सहायक उपवन संरक्षक बारां, सहायक अभियन्ता महात्मा गांधी नरेगा जिला परिशद बारां तथा समस्त पंचायत समितियों के सहायक कार्यक्रम अधिकारियों, कनिश्ठ तकनीकी सहायकों द्वारा एक साथ समस्त पंचायत समितियों में पहुंचकर सभी प्रगतिरत कार्यों का निरीक्षण व पर्यवेक्षण किया गया। जिले में वर्तमान समय मंे महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत प्रगतिरत 3293 कार्यों पर 154776 श्रमिकों का नियोजन किया जा रहा है।
इस निरीक्षण का मुख्य उद्देश्य नरेगा योजनान्तर्गत ज़मीनी स्तर पर कार्य करने वाले कार्मिक यथा कनिश्ठ तकनीकी सहायक, ग्राम विकास अधिकारी, कनिश्ठ सहायक, ग्राम रोजगार सहायक, मेट तथा श्रमिकों को नरेगा कार्यांे के सफल क्रियान्वयन हेतु सजग करना है। मेट द्वारा श्रमिक को दिये गये टास्क से अर्जित मजदूरी यदि प्रस्तावित भुगतान 220 रूपये प्रति दिवस से कम है तो उक्त श्रमिक को शेश बचे टास्क को पखवाड़ा समाप्ति तक पूर्ण करने हेतु प्रेरित किया गया जिससे कि श्रमिक को पूरी मजदूरी प्राप्त हो सके। सीईओ जिला परिशद द्वारा जिले में बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूरों का जॉबकार्ड बनवाकर कार्य पर नियोजित करने तथा कार्यस्थल पर स्वच्छ पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था व पंचायत में भामाशाहों के सहयोग लेकर यथा सम्भव छाछ, कैरी की छाछ, नींबू पानी व शरबत आदि की व्यवस्था करने व भीशण गर्मी को देखते हुए कार्यस्थल पर छाया के साथ-साथ प्राथमिक उपचार हेतु मेडिकल किट की व्यवस्था रखने तथा नरेगा अधिनियम के प्रावधानानुसार कार्यस्थलों पर समस्त आवश्यक सुविधाऐं रखने हेतु ग्राम पंचायतों के ग्राम विकास अधिकारी, कनिश्ठ लिपिक, रोजगार सहायक व मेट को निर्देश दिए गए। इच्छुक परिवारों को 100 दिवस का रोजगार देने तथा 81 से 90 दिवस पूर्ण कर चुके श्रमिकों को 100 दिवस पूर्ण करवाने की कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। इस अवसर पर विकास अधिकारी हरीश मीना, पंचायत प्रसार अधिकारी कमल किशोर बैरवा तथा जिला परिशद बारां के आईईसी समन्वयक चेतन कुमार शाक्य व ग्राम पंचायत सुन्दलक व बटावदा के ग्राम विकास अधिकारीगण उपस्थित रहे।

hemraj

विशेष जागरूकता अभियान 21 जून से

Previous article

ट्रांसपोर्ट, होटल एसोसिएशन व व्यापार मण्डल के साथ बैठक आयोजित

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *