0

प्रकृति का संरक्षण जरूरी – कलक्टर
वृक्षारोपण वार्षिकोत्सव जिला स्तरीय समारोह आयोजित
बारां. जिला कलक्टर इन्द्र सिंह राव ने कहा कि जिले में प्राकृतिक संसाधनों की भरमार है लेकिन इनका अनावश्यक दोहन करने से प्रकृति में असंतुलन की स्थिति हो जाती है जिसके कारण कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है अतः प्रकृति का संरक्षण जरूरी है।
कलक्टर राव उपखंड किशनगंज के ग्राम खण्डेला में आयोजित वृक्षारोपण वार्षिकोत्सव के जिला स्तरीय समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिले में उपखंड अटरू के ग्राम कुन्जेड़ मंे प्रकृति को सहेजने व संरक्षण का उदाहरण साक्षात मौजूद है जिसके तहत सरपंच एवं ग्रामवासियों की पहल से कुन्जेड़ में 5 हजार से अधिक पौधे लगाकर वाटिका विकसित की गई है जिसमें कई फलदार, औषधिय पौधे लगाए गए हैं और इनकी पूर्ण सार संभाल भी की जा रही है। इसी प्रकार खण्डेला में भी चारागाह विकास कार्य के तहत वृक्षारोपण वार्षिकोत्सव अभियान के माध्यम से 2 हजार पौधे लगाए जाएंगे जिनकी देखभाल की जिम्मेदारी प्रत्येक ग्रामवासी को लेनी चाहिए जिससे प्राकृतिक वातावरण में अपेक्षित सुधार किया जा सके। सीईओ जिला परिषद बृजमोहन बैरवा ने कहा कि जिले के किशनगंज क्षेत्र में वन क्षेत्र की भरमार थी और काफी वर्षा हुआ करती थी और भूजल का स्तर भी अच्छा था लेकिन प्राकृतिक संसाधनों के दोहन, वनों की कटाई के कारण प्राकृतिक असंतुलन बना है जिससे वर्षा की कमी व भूजल के स्तर में भी कमी आई है। राजसमंद जिले के पिपलांत्री गांव में पौधारोपण, जल संग्रहण के कार्य के कारण पूरे विश्व में उस गांव की पहचान है इसी प्रकार खण्डेला ग्राम सहित सम्पूर्ण जिले में पौधारोपण, भू संरक्षण एवं जलग्रहण विकास के कार्यों के माध्यम से प्राकृतिक असंतुलन को समाप्त करने हेतु प्रत्येक व्यक्ति को प्रयास करना चाहिए। साथ ही उन्होंने बताया कि वृक्षारोपण वार्षिकोत्सव अभियान के तहत मनरेगा योजना के अन्तर्गत जिले में 70 हजार से 1 लाख पौधे 15 जुलाई को लगाने का लक्ष्य रखा गया है। वॉटरशेड विभाग के मनोज पूरब गोला ने बताया कि खण्डेला में खरागाह विकास कार्य के तहत 5 हैक्टेयर भूमि पर सीसीटी, जलसंग्रहण ढांचा, कांटेदार फेंसिंग, 2 हजार पौधों का रोपण, ट्यूबवेल, सोलर सिस्टम, पानी की टंकी, ग्रेवल रोड, आदि का कार्य करवाया जा रहा है। इस मौके पर जिला कलक्टर इन्द्र सिंह राव के नेतृत्व में समस्त अधिकारियों ने पौधारोपण किया। इस अवसर पर सरपंच, भू आवाप्ति अधिकारी हीरालाल वर्मा, एसडीएम गौरव मित्तल, विकास अधिकारी दिवाकर मीणा, डीएफओ राजीव कपूर सहित जिला स्तरीय अधिकारी, ब्लॉक स्तरीय अधिकारी, ग्रामवासी आदि मौजूद थे।

hemraj

चंबल घड़ियाल में आबाद होंगे घड़ियाल 

Previous article

कोटा के डॉक्टर्स का कमाल: पक्षियों के टूटे पंखों में राड डालकर उड़ाए

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *