0

सेवानिवृत्त स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने किया इएचसी केंद्र का शुभारंभ
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की पहल पर बूंदी के नागरिकों को मिली सुविधा
निशुल्क दवा और सस्ती दरों पर होगी बेसिक जांच
नई दिल्ली.

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की पहल पर शुक्रवार से बूंदी के लोगांे को इलेक्ट्रोनिक हेल्थ सेंटर की एक बड़ी सुविधा मिली। अब उन्हंे बूंदी में ही टेलीमेडिसिन के माध्यम से जयपुर के नारायणा अस्पताल के विशेषज्ञ चिकित्सकों का परामर्श मिल सकेगा। लोकसभा अध्यक्ष के ओएसडी राजीव दत्ता की उपस्थिति में दो सेवानिवृत्त स्वास्थ्य कार्यकर्ता ने इस सेवा का उद्घाटन किया।
ओएसडी दत्ता ने बताया कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के आव्हान पर जयपुर के नारायणा अस्पताल ने सीएसआर के तहत यह सेवा प्रारंभ की है। नगर परिषद के सामने स्थापित ईएचसी में मरीजों को बेहद मामूली पंजीयन शुल्क पर मरीज को परामर्श मिलेगा। केन्द्र से डाॅक्टर की लिखी ब्रांडेड दवाएं निशुल्क मिलेंगी।
उन्होंने बताया कि यदि डाॅक्टर को महसूस होता है कि मरीज किसी गंभीर रोग से पीड़ित है या उसे तत्काल विशेषज्ञ डाॅक्टर के परामर्श की आवश्यकता है तो डाक्टर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उसे जयपुर स्थित विशेष डाॅक्टरों से जोड़कर परामर्श दिलवाएंगे।
उन्होंने बताया कि लोकसभा अध्यक्ष बिरला के कहने पर ही विभिन्न प्रकार की बेसिक जांच को भी बेहद मामूली दरों पर उपलब्ध करवाने की व्यवस्था की गई। सामान्यतः जिन जांचों के लिए व्यक्ति को बाजार में 20 से 200 रूपए देने होते हैं, वह जांच 7 से 60 रूपए में ही हो जाएंगी।
इसके अलावा कोविड के दौर में मरीजों को परेशानी नहीं हो इसके लिए नारायण अस्पताल जयपुर में उपचार करवा रहे मरीजांे के फाॅलोअप ट्रीटमेंट की व्यवस्था भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से ईएचसी में की गई है। इससे मरीज अनावश्यक यात्रा और कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से बच सकेंगे। चिकित्सकों को भी मरीजों के सीधे सम्पर्क से बचाया जा सकेगा। इसीएच में अगले सप्ताह से पूरी तरह आॅपरेशनल हो जाएगा।
टेलीमेडिसिन से जानी व्यवस्था
इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष के ओएसडी राजीव दत्ता ने टेलीमेडिसिन के माध्यम से नारायणा अस्पतान के अस्थि रोग विशेषज्ञ तथा फिजिशियन से संवाद भी किया। उन्होंने कहा कि मरीजों को सर्वश्रेष्ट परामर्श मिले, यह डाॅक्टरों की प्राथमिकता रहनी चाहिए। इस अवसर पर अस्पताल की सीएसआर गतिविधियों की नेशनल हेड डा. अनुपमा शेट्टी भी उपस्थित रहीं।

hemraj

सरकारी योजनाओं के तहत उपचार का निजी चिकित्सालयों को नहीं मिल रहा पैसा

Previous article

खत्म हुआ इंतजार, मानसून जल्द देगा दस्तक

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *