जयपुरन्यूज़राजस्थान

मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान में दूसरे सबसे ज्यादा कोविड एंटीबॉडीज: सर्वे

मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान में दूसरे सबसे ज्यादा कोविड एंटीबॉडीज: सर्वे
0

जयपुर, 29 जुलाई: सितंबर/अक्टूबर तक कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच राजस्थान के लिए अच्छी खबर है, क्योंकि यहां की 76 फीसदी आबादी में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी हैं।


पिछले महीने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की ओर से किए गए सीरो सर्वे की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है।

रिपोर्ट के अनुसार जून-जुलाई में राजस्थान के विभिन्न शहरों से कुल 1,226 रैंडम सैंपल लिए गए। जब इन नमूनों का परीक्षण किया गया तो 934 नमूनों में एंटीबॉडी पाए गए। इस सर्वे रिपोर्ट ने राज्य के लोगों में कोविड एंटीबॉडीज की मौजूदगी के संकेत दिए हैं।

सीरो सर्वे रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि देश भर में सबसे ज्यादा एंटीबॉडी मध्य प्रदेश के लोगों में पाई गई है, जो कि आबादी का करीब 79 फीसदी है। मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान दूसरे नंबर पर आता है। इसी तरह सबसे कम एंटीबॉडी की गिनती केरल में हुई है जो कि महज 44 फीसदी है।

राजस्थान में दूसरी कोविड वेव के दौरान ढाई महीने (अप्रैल, मई और जून के मध्य तक) में करीब 6 लाख पॉजिटिव केस मिले। कोरोनावायरस के कारण 6,000 से अधिक लोगों की जान चली गई।

रिपोर्ट के अनुसार, मध्य प्रदेश 79 प्रतिशत आबादी में एंटीबॉडी के साथ चार्ट में सबसे आगे है, जबकि राजस्थान 76.2 प्रतिशत सीरो प्रसार के साथ दूसरे स्थान पर है। बिहार में 75.9 प्रतिशत, गुजरात में 75.3 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ में 74.6 प्रतिशत, उत्तराखंड में 73.1 प्रतिशत, उत्तर प्रदेश में 71 प्रतिशत और आंध्र प्रदेश में 70.2 प्रतिशत सीरो प्रसार है।

इसी तरह कर्नाटक में यह 69.8 फीसदी, तमिलनाडु में 69.2 फीसदी, ओडिशा में 68.1 फीसदी, पंजाब में 66.5 फीसदी, तेलंगाना में 63.1 फीसदी, जम्मू-कश्मीर में 63 फीसदी, हिमाचल प्रदेश में 62 फीसदी, झारखंड में 61.2 फीसदी, पश्चिम में है। बंगाल 60.9 फीसदी, हरियाणा 60.1 फीसदी, महाराष्ट्र 58 फीसदी, असम 50.3 फीसदी और केरल 44.4 फीसदी। केरल में राज्यों में सबसे कम एंटीबॉडी हैं।

(Raj.News/23 दिन पहले)

वेस्टेड डॉल्फिन

केरल कृषि विश्वविद्यालय ने वायनाड में परेशान कसावा किसानों की मदद की

Previous article

फेसबुक ने लघु व्यवसाय ऋण पहल शुरू की; 50 लाख रुपये तक का ऋण प्राप्त करें

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.