कृषि मशीनरी पर 50% से 80% सब्सिडी प्राप्त करें;  7 सितंबर से पहले आवेदन करें
0

कृषि मशीनरी

किसानों के लिए खुशखबरी। हरियाणा सरकार प्रदान कर रही है ५०% से ८०% के तहत विभिन्न कृषि मशीनों की खरीद पर सब्सिडी फसल अवशेष प्रबंधन योजना. इस सब्सिडी के लिए आवेदन करने के इच्छुक किसान कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण करा सकते हैं सितंबर ७.

इन मशीनों पर उपलब्ध सब्सिडी:

फसल अवशेष प्रबंधन योजना के तहत विभिन्न कृषि मशीनें और मशीनें जैसे कस्टम हायरिंग सेंटर, बेलिगो मशीन, स्ट्रॉ बेलर, सुपर एसएमएस, हैप्पी सीडर, रोटरी स्लेशर, शू मास्टर, पैडी स्ट्रॉ चॉपर, मल्चर, रोटरी स्लेशर, रिवर्सिबल एमबी प्लो, सुपर ग्रांट सीडर के लिए, जीरो टिल, सीड ड्रिल, ट्रैक्टर चालित और स्वचालित फसल रीपर के लिए दिया जाएगा। सह बांधने की मशीन उपकरण।

सब्सिडी विवरण:

  • फसल अवशेष प्रबंधन योजना के तहत राज्य के किसानों के लिए पंजीकरण कराना अनिवार्य है मेरी फ़सल-मेरा ब्योरा पोर्टल सब्सिडी के लिए पात्र होने के लिए।

  • जिन किसानों ने पिछले दो वर्षों में किसी कृषि मशीनरी पर अनुदान लिया है, वे इस योजना के तहत उस मशीन के लिए आवेदन करने के पात्र नहीं होंगे। इसके अलावा एक किसान अधिकतम तीन अलग-अलग प्रकार की कृषि मशीनें ही ले सकता है।

  • ऑनलाइन आवेदन करने के लिए किसान को टोकन राशि जमा करनी होगी 2500 और 5000 रुपये विभिन्न कृषि यंत्रों की अनुदान राशि के अनुसार ऑनलाइन।

  • इस श्रेणी में कम से कम तीन और अधिकतम पांच मशीनें ली जा सकती हैं।

  • इसके अलावा, वे कस्टम हायरिंग सेंटर जिन्होंने पहले ही अनुदान प्राप्त कर लिया है, वे आवेदन करने के पात्र नहीं होंगे।

  • योजना के दिशा-निर्देशों के अनुसार कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित करने में रेड जोन और येलो जोन के गांवों को प्राथमिकता दी जाएगी.

  • योजना के तहत लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होने पर लाभार्थी का चयन ऑनलाइन ड्रा के माध्यम से किया जाएगा।

  • योजनान्तर्गत अनुदान देने की समस्त प्रक्रिया जिला स्तरीय समिति द्वारा संचालित की जायेगी, जिसकी अध्यक्षता उपायुक्त करेंगे।

सब्सिडी के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक आधार कार्ड

  • मेरी फसल-मेरा पर पंजीकरण की प्रति ब्योरा द्वार

  • पैन कार्ड

  • बैंक पासबुक की प्रथम पृष्ठ प्रति

  • ट्रैक्टर आरसी

  • भूमि की जानकारी के लिए आवश्यक दस्तावेज पटवारी रिपोर्ट

  • अनुसूचित जाति के किसान के लिए जाति प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।

खरीदी गई मशीन का भौतिक सत्यापन

ऊपर बताए गए इन सभी दस्तावेजों को खरीदी गई मशीन के भौतिक सत्यापन के समय तैयार रखना होगा। जिले के सहायक कृषि अभियंता के कार्यालय में उपयुक्त दस्तावेज जमा करने होंगे, जिससे पात्रता सुनिश्चित की जा सके। यदि दस्तावेज में कोई विसंगति पाई जाती है, तो किसान अनुदान के लिए पात्र नहीं होगा।

आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको हरियाणा कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट https://www.agriharyanacrm.com/ पर जाना होगा।

  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।

  • इसके बाद आपको वर्ष 2020-21 के दौरान सीआरएम योजना के तहत सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आवेदन करने के लिए लिंक पर क्लिक करना होगा।

  • अब एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको योजना का चयन करना होगा।

  • जैसे ही आप योजना का चयन करते हैं आपको Proceed to Apply बटन पर क्लिक करना होगा।

  • इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।

  • आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आपका जिला, ब्लॉक, नाम, आधारकार्ड नंबर, मोबाइल नंबर आदि और सबमिट बटन पर क्लिक करें।

  • सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

योजना के संबंध में अधिक जानकारी के लिए किसान राज्य के टोल फ्री नंबर 1800-180-1551 पर संपर्क कर सकते हैं या वेबसाइट www.agriharyana.gov.in पर लॉग इन कर सकते हैं।

वेस्टेड डॉल्फिन

महत्वपूर्ण कृषि मशीनरी योजनाएं और सब्सिडी

Previous article

राजस्थान के नागौर सड़क हादसे में लोगों की मौत पर पीएम मोदी ने जताया दुख

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in खेती