0
  • यह बेवसाइट हिंदी, अंग्रेज़ी, तेलुगू, असमी और मलयालम में उपलब्ध है
  • यहां आप ई-पास के लिए अप्लाई करने के साथ अपनी एप्लीकेशन को ट्रैक भी कर सकेंगे

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन का चौथा दौर शुरू हो गया है। लोगों को एक शहर दूसरे शहर जाने के लिए ई-पास लेना होता है। सरकार ने ट्रैवल के लिए मूवमेंट पास अप्लाय करने के लिए नई वेबसाइट लॉन्च की है। इस वेबसाइट पर अभी 17 राज्यों के लिए ई-पास अप्लाय करने की सुविधा है। जो लोग किसी कारण से एक राज्य से दूसरे राज्य में ट्रैवल करना चाहते हैं तो नई सरकारी वेबसाइट पर अप्लाय कर सकते हैं।

अलग-अलग कैटेगिरी में कर सकते हैं अप्लाय
इस वेबसाइट से न केवल ई-पास के लिए अप्लाई कर सकते हैं बल्कि ई-पास ऐप्लिकेशन का स्टेटस भी जान सकते हैं। वेबसाइट पर दी गईं गाइडलाइन्स के मुताबिक, इन ई-पास को निश्चित ट्रैवल कैटिगरी के तहत अप्लाय किया जा सकता है। इनमें स्टूडेंट्स, जरूरी सर्विस प्रोवाइडर, टूरिस्ट, तीर्थयात्री, इमरजेंसी/मेडिकल ट्रैवल और शादी शामिल हैं। सभी जानकारी के साथ आपको यात्रा के कारण के लिए प्रूफ भी देना होता है।पास बनवाने की प्रोसेस?

  • सबसे पहले http://serviceonline.gov.in/epass/ वेबसाइट पर जाएं।
  • यह बेवसाइट हिंदी, अंग्रेज़ी, तेलुगू, असमी और मलयालम में उपलब्ध है।
  • जैसे ही वेबसाइट ओपन होगी दो ऑप्शन आते हैं- ई-पास के लिए अप्लाई करें, अपनी एप्लीकेशन को ट्रैक करें।
  • जिन्हें ई-पास के लिए अप्लाई करना है, उनके सामने राज्य को चुनने का ऑप्शन आएगा।
  • उदाहरण के लिए, आप अगर भोपाल में रह रहे हैं, तो आपको मध्य प्रदेश चुनना होगा।
  • फिर एक और लिंक मिलेगा, उस पर क्लिक करके आप राज्य के ई-पास वाले पेज पर चले जाएंग।
  • मोबाइल नंबर रजिस्टर कराना होगा, OTP के ज़रिए उसका वेरिफिकेशन होगा. फिर एक फॉर्म खुलेगा. कुछ सवाल होंगे। 
  •  नाम, पता, किस काम से जाना है, कहां जाना है। ये सब आपको भरना होगा. कुछ ज़रूरी दस्तावेज भी जमा करने होंगे।
  • सारी जानकारी भरने के बाद जब आप फॉर्म जमा कर देंगे, तब वेबसाइट से जुड़े सरकारी अधिकारी आपका आवेदन देखेंगे। 
  • उसी के आधार पर फैसला होगा कि आपको पास दिया जाए या नहीं। ई-पास बनने पर आपको फोन पर मैसेज आएगा।
  • यात्रा के दौरान ई-पास की एक सॉफ्ट / हार्ड कॉपी रखें। इसकी जरूरत पड़ सकती है।
  • इसके अलावा आपका आवेदन किस स्टेज पर है, ये पता करने के लिए भी वेबसाइट पर ‘ट्रैक एप्लीकेशन’ ऑप्शन भी है।

लॉक डाउन से किसान हुए अपडेट

Previous article

कोटा में दो और मिले पॉजिटिव

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *