0

22 अस्थि कलश लेकर 44 यात्री हरिद्वार रवाना
कोटा.
कोरोना त्रासदी के चलते ट्रेन व बसें बंद होने के कारण शहरवासी अपने दिवंगत परिजनों की अस्थियां हरिद्वार विसर्जित नहीं कर पा रहे थे। ऐसे में, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा जन भावनाओं का सम्मान करते हुए हरिद्वार अस्थि विसर्जन के लिए 4 जून से निशुल्क बसों का प्रबंध रोडवेज के माध्यम से किया हुआ है। उसी के नवें चरण में गुरुवार को 22 अस्थि कलश लेकर 44 यात्रियों ने हरिद्वार के लिए प्रस्थान किया। इससे पूर्व वरिष्ठ विधि अधिकारी रोडवेज रामप्रसाद तलवार द्वारा हरी झंडी दिखाकर बस को रवाना किया गया। कर्मयोगी सेवा संस्थान के अध्यक्ष राजाराम जैन कर्मयोगी, संयोजक अलका दुलारी जैन कर्मयोगी, कोटा उत्तर अध्यक्ष अनिल कुमार शर्मा, रोडवेज ड्यूटी अधिकारी अशोक भाटिया, रोडवेज ड्यूटी अधिकारी राजूलाल सिंधी
द्वारा सभी अस्थि कलश पर पुष्पांजलि समर्पित की गई। संस्था द्वारा हरिद्वार हरकी पौड़ी पर विधि विधान के साथ अस्थि विसर्जन के लिए निशुल्क पंडित की व्यवस्था की गई है। यात्रा से पूर्व सभी यात्रियों का मेडिकल परीक्षण किया गया एवं प्रशासन द्वारा भोजन पानी की व्यवस्था उपलब्ध करवाई गई।
राजाराम जैन कर्मयोगी ने बताया कि 4 जून से 18 जून तक 9 चरणों में 13 बसों के माध्यम से अब तक 286 अस्थि कलश लेकर 560 परिजन निशुल्क हरिद्वार यात्रा कर चुके हैं। आज के 44 यात्रियों में हाडोती क्षेत्र से कैथून, बूढ़ादीत, बड़ोद, खेड़ा रसूलपुर, कोटड़ा दीप सिंह, खेड़ली पाड़ा, गोरधनपुरा ग्रामीण क्षेत्रों से भी अस्थियां लेकर परिजन गए हैं।

hemraj

राजहंसो को भायी बून्दी की आबोहवा

Previous article

विशेष जागरूकता अभियान 21 जून से

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in कोटा