0

शावक की नही की जा सकी तलाश,दूसरे की हालत गंभीर
वन्यजीव चिड़ियाघर में किया जा रहा उपचार, एनटीसीए की टीम पहुंची मुकुन्दरा
कोटा
मुकुन्दरा टाइगर रिज़र्व में बाघिन एमटी-2 का एक शावक दूसरे दिन मंगलवार को भी नही मिला। वनकर्मियों ने इसकी सभी जगह तलाश की, लेकिन कुछ भी सुराग नही मिले है। जबकि, दूसरा शावक गंभीर है। इसको चिड़ियाघर में रखा गया है। डॉक्टर्स की देखरेख में उपचार चल रहा है। डॉ तेजेन्द्र रियाड़ ने बताया की इसकी हालत में पहले से सुधार है, लेकिन यह ख़तरे से बाहर नही है। 24 घण्टे इसकी मॉनिटरिंग की जा रही है।
मुकुन्दरा पहुंची एनटीसीए की टीम
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के हस्तक्षेप के बाद नेशनल टाइगर कंसर्वशन ऑफ ऑथोरिटी (एनटीसीए) की टीम मुकुन्दरा पहुंच गई। टीम ने यहां के व्यवस्थाएं देखी है। बताया जा रहा है कि टीम कुछ दिन यही पर रहेगी। बाघों की मॉनिटरिंग पर क्या चूक रही इसकी जांच होगी। साथ ही बाघों के भविष्य को लेकर भी विचार किया जाएगा। टाइगर रिज़र्व और जिला प्रशासन के साथ भी बैठक आयोजित की जा सकती है।
इधर, वन मंत्री और पूर्व सीएम ने जताई नाराजगी
इस मामले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने गहरी चिंता जताकर आक्रोश प्रकट किया है। राजे ने कहा कि मुकुन्दरा को खून पसीने से सींचा था, लेकिन दो बाघों की से गहरा धक्का लगा है। दूसरी तरफ वन मंत्री सुखराम विश्नोई ने भी नाराजगी जताकर उचित कार्रवाई करने की बात कही है।

hemraj

एमटी-4 बाघिन की भी पूर्व में जन्म दे चुकी थी शावक

Previous article

मुकुन्दरा टाइगर रिज़र्व में आएंगे नए बाघ

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in कोटा