0
संभाग में मनरेगा में मिलेगी कम से कम 200 रूपये मजदूरी
मनरेगा में टास्क निर्धारण के लिए अधिकारी होंगे जिम्मेदार- संभागीय आयुक्त

कोटा

संभाग में महात्मा गांधी नरेगा में कार्यशील श्रमिकों को अब न्यूनतम मजदूरी के अनुसार कम से कम 200 रूपये प्रतिदिन के अनुसार टास्क निर्धारित कर भुगतान की व्यवस्था करनी होगी। राज्य सरकार द्वारा निर्धारित 220 रूपये के विरुद्ध संभाग में जिस ग्राम पंचायत द्वारा 210 से 220 रूपये के बीच मनरेगा श्रमिकों को भुगतान किया जाना पाया जायेगा उन्हें सम्मानित किया जाएगा।
संभागीय आयुक्त कैलाश चन्द मीणा ने संभाग के जिला कलक्टर्स एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद को पत्र भेजकर निर्देशित किया है कि महात्मागांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत चल रहे कार्यों पर लगे श्रमिकों को न्यूनतम मजदूरी मिल सकें इसके लिए टास्क निर्धारित कर कम से कम 200 रूपये प्रतिदिन दिया जाना सुनिश्चित किया जाये।
उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि मनरेगा कार्यस्थलों पर टास्क निर्धारण की जिम्मेदारी विकास अधिकारी, जेटीओ और मेट की संयुक्त रूप से तय की जाकर निरंतर मनरेगा कार्यस्थालों का निरीक्षण किया जाए। उन्होंने सभी मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद को निर्देशित किया है कि मनरेगा कार्यो की स्वयं के स्तर पर समीक्षा कर औसतन 200 रूपये मजदूरी का टास्क निर्धारित कर जिला कलक्टर के माध्यम से प्रगति से अवगत करायें।
संभागीय आयुक्त ने बताया कि वर्तमान में मनरेगा में औसतन मजदूरी 150 रूपये आ रही है जो कि राज्य सरकार द्वारा निर्धारित 220 रूपये प्रतिदिन से कम है। उन्होंने सभी अधिकारियों को टास्क निर्धारित कर औसत मजदूरी को 200 रूपये तक ले जाने के निर्देश दिए है। सभी मनरेगा कार्यस्थलों पर 15 जून तक जारी होने वाली मस्टरोल में नाम आने वाले श्रमिकों के परिवार को 100 दिवस का रोजगार उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करें।
अधिकारी करें निरीक्षण-
संभागीय आयुक्त ने जिला कलक्टर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद, विकास अधिकारी और उपखण्ड अधिकारियों को निर्देशित किया है कि सरकार द्वारा निर्धारित मापदण्ड के अनुसार विकास कार्यो को निरीक्षण किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने मनरेगा कार्यस्थलों पर छाया, पानी, मेडिकल सुविधाओं की उपलब्धता सुुनिश्चित करने तथा प्रत्येक नागरिक को रोजगार मांगने पर समय पर रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।
औसत मजदूरी पर होगा सम्मान-
संभागीय आयुक्त ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा में श्रेष्ठ कार्य करने वाली पंचायतों को सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि संभाग की ऐसी पंचायतें जिनमें औसत मजदूरी 210 से 220 रूपये के बीच रहेगी उन्हें विशेष अवसरों पर सम्मानित किया जाएगा ताकि अन्य पंचायतें भी प्रेरित हो सकें।

hemraj

वर्षा जनित आपदा से बचाव के लिए आवश्यक संसाधनों के साथ पूरी तैयारी रखे- जिला कलक्टर

Previous article

किसान जल्द करे रिकॉर्ड सही, खाते में आएंगे 2 हजार

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in कोटा