0

नागपंचमी विशेष:
दूध पिलाने से मर जाता है सांप
नागपंचमी पर है सांप को दूध पिलाने की परंपरा
हेमराज गुर्जर.कोटा
नागपंचमी पर ग्रामीण क्षेत्रों में सांपों को दूध पिलाने की परंपरा है, लेकिन क्या वास्तव में सांप दूध पीते है। पीते है तो कितना पीते है। इस पर नवज्योति ने पड़ताल की। साथ ही सर्प एक्सपर्ट से भी बात की तो निकल सामने आया कि सांप दूध ही नही पीते। इनके दूध पीने की बहुत कम संभावना है। ये दूध तभी पीते है, जब प्यासे हो। दौरान दूध पी भी लिया तो मर जाते है। एक्सपर्ट बताते है कि 90 फीसदी सांप दूध पीने के बाद मर जाते है। उनका कहना था कि अअधिकांश सांप पानी पूर्ति अपने भोजन के रूप में खाएं जाने वाले जीवों से कर लेते है। लोगों में सांपों के प्रति गहन अंधविश्वास फैला हुआ है। इससे मनुष्यों को तो खतरा है। साथ में सांपों को भी खतरा है। निरन्तर बढ़ती आबादी आबादी के बाद भी सांपों की संख्या में निरंतर इजाफा हुआ है। हालांकि, पिछले कुछ सालों में सांपों के प्रति जागरूकता बढ़ रही है। संर्प घर में आने के बाद इसकी सूचना रेस्क्यू टीम को देते है। मारते नहीं है। साथ ही सर्पदंश में भी सीधे अस्पताल जाने लगे है। पूर्व में अंधविश्वास के कारण पीडित की मौत हो जाती है। सर्पदंश पीडित का उपचार संभव है। इसके लिए समय पर पीडित को पहुंचाया जाए। इसके लिए कुछ गाइडलाइंस की पालना करनी होती है।
हाड़ौती में सांपों की सौ प्रजातियां
यंू तो दुनिया में सांपों की 1500 से 2000 सांपों की प्रजातियां है। भारत में 2500 प्रजातियां है। इनमें से केवल 5 से 10 फीसदी सांप है। हाड़ौती में 5 प्रकार के विषैले सांप है। इनमें कोबरा, रसैल वाइपर, के्रत, वाइपर तथा अन्य शामिल है। इनमें सबसे खतरनाक रसैल वाइपर और कोबरा है। रसैल वाइपर के काटने के बाद पीडित को समय पर अस्पताल नहीं पहुंचाया गया तो मौत हो जाती है।
सांपों से जुडेÞ कई सवालों पर कोटा शहर के एकमात्र सर्प विशेषज्ञ डॉ विनीत मोहबिया से सवाल-जवाब किए। उनके सवालों के अंश।
सवाल. सांप के काटने पर इमरजेंसी में क्या करे?
जवाब. सबसे पहले सांप को पकड़ने की कोशिश करे। उसकी फोटो भी खींच सकते है, ताकि सांप की प्रजाति को पहनानने में आसानी हो। मरीज का इधर-उधर घूमने नहीं दे। इससे जहर तेजी से फैलता है। महिला के जेवर उतार ले।

सवाल. सांप के काटने की पहचान कैसे करे?
जवाब. काटने के स्थान पर अगल और बगल में दो निशान बन जाते है। इसके आसपास की लगह लाल हो जाती है। प्रभावित हिस्से में दर्द महसूस होता है। धुंधला दिखता है। मुंह से झाग आना शुरू हो जाते है।

सवाल. क्या अस्पतालों में सांप के काटने का उपचार है?
जवाब. सांप के काटने पर अंधविश्वासों में न आए। पीडित को तुरंत नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाए। इसका उपचार संभव है।

सवाल. क्या सांप दूध पीता है?
जवाब. एक रिसर्च के मुताबिक दूध पीने से 90 फीसदी सांपों की मौत हो जाती है। कई बार सांप का गला सूखने से दूध मिलने पर पहचान नहीं पाता। इससे इसके शरीर में दूध नही पचता और सांप की मौत हो जाती है।

hemraj

इनसाइड स्टोरी… एमटी-3 को देख लगा नहीं, बीमार था बाघ

Previous article

मुकंदरा में ऐसे तो कैसे सुरक्षित रहेंगे बाघ?

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in कोटा