0

दिल्ली.

लॉकडाउन के चलते ज्यादातर कामकाज ठप हो गए है। इससे सबसे ज्यादा असर प्रवासी श्रमिकों पर पड़ा है। उनके सामने आर्थिक समस्याएं खड़ी हो गई हैं। इन सब चीजों से छुटकारा दिलाने के लिए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने एक बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने 15 जून से 32 लाख प्रवासी श्रमिकों को रोजगार  दिलाए जाने की बात कही है। उन्होंने श्रमिकों को निर्माण, उद्योग, कृषि व अन्य क्षेत्रों में रोजगार के अवसर मुहैया कराने का ऐलान किया। ये बातें उन्होंने रविवार को अनलॉक 1.0 की समीक्षा बैठक के दौरान कहीं।

 

नव निर्माण की जताई इच्छा

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि अनलॉक की शुरुआत के साथ ही एक्सप्रेसवे, मेडिकल कॉलेज, यूनिवर्सिटी, सड़क का निर्माण कार्य शुरू हो रहा है। ऐसे में इन क्षेत्रों में रोजगार के भरपूर अवसर हैं। इनमें प्रवासी श्रमिकों को काम करने का मौका मिल सकता है। इससे उनकी मदद के साथ प्रदेश के नव निर्माण में भी सहयोग मिलेगा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार की अन्य कई योजनाओं में भी रोजगार के अवसर हैं।

सबसे ज्यादा यूपी में लौटे कामगार

अपर मुख्य सचिव (गृह) के मुताबिक देश में सबसे ज्यादा कामगार यूपी में लौटे हैं। दक्षिण के राज्यों से भी कामगार  लगातार वापस लौट रहे हैं। अभी तक दूसरे राज्यों से 1680 ट्रेनों से लगभग 22.81 लाख श्रमिकों के घर वापसी की व्यवस्था की गई है। जिनमें से 1629 ट्रेनों से 22.01 लाख लोग प्रदेश में पहुंच चुके हैं। इसके अलावा बसों, निजी वाहनों और दूसरे तरीकों से अब तक प्रदेश में करीब 32 लाख प्रवाीस मजदूर आ चुके हैं।

hemraj

राजस्थान में कोरोना के 10696 मामले / 7814 लोग रिकवर हो चुके, इनमें 7450 अस्पताल से डिस्चार्ज, अब कुल 2642 एक्टिव केस

Previous article

18 रूटों पर संचालित होगी रोडवेज बसें

Next article

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *